बनारसी पान की पीक

बनारस में पान का चलन बहुत है और वह भी तंबाकू के साथ । पान चबाने पर मुंह में जमा होने वाले पीक को लोग इधर-उधर जहां भी जगह मिला थूक देते हैं । कम ही लोग होंगे जो थूकने के लिए सही जगह का चुनाव करते हों और इस बात का ध्यान रखते हों कि कहीं अन्य जन प्रभावित तो नहीं होंगे । राह चलते भी आपको पान के असंयमित शौकीन लोगों की मेहरबानी झेलनी पड़ जाये तो कोई आश्चर्य नहीं । ऐसा ही एक वाकया मेरे विभाग के एक मित्र के साथ एक बार हुआ था ।

बात बहुत पुरानी आठवें दशक की है । मेरे वे मित्र किसी अन्य शहर से लौट रहे थे । पूर्वाह्न का समय था । उन्होंने रेलवे स्टेशन से रिक्शा भाड़े पर लिया और सीधे विभाग चले आये । (तब अपने शहर में आटोरिक्शे चलना आरंभ नहीं हुआ था ।) विभाग पहुंचने पर जब वे रिक्शा से उतरे और भाड़े का पैसा चुकाने लगे तो अनायास उनकी नजर अपनी कमीज की आस्तीन पर पड़ी । यह क्या, वे चौंके । उन्होंने पाया कि कंधे के पास आस्तीन का कुछ हिस्सा पान की पीक से रंगा हुआ । अपनी झल्लाहट और गुस्सा रिक्शे वाले पर उतारते हुए वे चीखते हुए-से बोले, “क्यों जी यह क्या तमाशा किया तुमने ? पान की पीक से मेरी कमीज रंग डाली ?”

रिक्शावाला क्षण भर के लिए सकपकाया और फिर संभलते हुए बोला, “बाबूजी, इसमें भला मेरी क्या गलती है । पान के ये दाग तो आपकी कमीज पर रिक्शा पर बैठने से पहले से ही थे ।”

मित्र को तुरंत इस बात का अहसास हो गया कि रिक्शावाले की कोई गलती हो भी नहीं सकती । एक तो वह पान ही नहीं खा रहा था और दूसरे उसके पीछे तो वे स्वयं ही बैठे थे । तब पान खा भी रहा होता तो उनके पीछे से थोड़े ही थूक सकता था । उन्होंने भाड़ा दिया और कार्यालय की ओर बढ़ गये । वस्तुतः उन्हें रास्ते भर इस बात का पता ही नहीं चला कि कब कहां किस शौकीन आदमी ने उनके ऊपर पान की पीक के छींटे डाल दिये थे । ट्रेन से उतरने के बाद स्टेशन की भीड़भाड़ और रिक्शे लेने तक के समय में किसी भी पल यह घटना हुयी होगी । बेचारे मित्र को घंटों विभाग में पान की पीक से सनी कमीज पहने बिताना पड़ा । बाद में कमीज के दाग साफ हो भी पाये कि नहीं यह मैंने कभी उनसे पूछा नहीं । – योगेन्द्र

टिप्पणी करे

Filed under अनुभव, आपबीती, कहानी, लघुकथा, Uncategorized

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s